गरीब बच्चों का इलाज ईश्वर की सच्ची पूजा

September 9, 2014 // 0 Comments

हिमालयन इंस्टीट्यूट व हस्पताल जॉली ग्रांट से पधारे डा. दीपक भारद्वाज व डा. ईशा भारद्वाज ने आज के शिविर में बच्चों की जांच का मोर्चा सुबह से ही संभाल लिया था। विभिन्न विशिष्ट अतिथि आते रहे, भाषण देकर जाते रहे, परन्तु ये दोनों चिकित्सक निस्पह भाव से अनवरत्‌ अपने कार्य में लगे रहे। न नाश्ते की सुध, न गले में माला डलवाने की। Continue reading

नौकरी दिलाने के नाम पर ठगने का प्रयास

September 7, 2014 // 0 Comments

शिवालिक बैंक ने किसी भी बाहरी एजेंसी से नौकरी दिलाने के बारे में कोई समझौता नहीं किया हुआ है। जो युवक – युवती शिवालिक बैंक में अपना कैरियर बनाने के इच्छुक हैं, उनको शिवालिक बैंक से सीधे संपर्क करना चाहिये और शिवालिक बैंक की ईमेल आई डी पर ही अपने सी.वी. प्रेषित करने चाहियें। बैंक की ओर से दिल्ली में इस फर्म के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज़ कराते हुए शीघ्रतिशीघ्र अपराधियों के विरुद्ध आवश्यक कानूनी कार्यवाही करने की प्रार्थना की गयी है। Continue reading

सहारनपुर मे गुघाल मेला

September 7, 2014 // 0 Comments

बांसुरी पर राजवीर सिंह ने उनका बखूबी साथ दिया। सच तो यह है कि गायिका को बांसुरी पर संगत देने का यह अभिनव प्रयोग सहारनपुर में पहली बार देखने को मिला और राजवीर सिंह की बांसुरी सुन कर मन पुलकित हो गया। पोलियो ग्रस्त ग़ालिब से भगवान ने यदि चलने-फिरने की शक्ति छीन रखी है तो क्या, उनके गले में तो मुहम्मद रफ़ी जैसी मधुर व दिलकश आवाज़ का जादू भर दिया है। Continue reading

जीनियस बच्चों की खोज

August 29, 2014 // 0 Comments

गणित में विशेष प्रतिभा का प्रदर्शन करने वाले बच्चों के लिये चार चरण में एक प्रतिस्पर्द्धा का भी आयोजन किया जा रहा है। प्रदेश स्तर पर जो बच्चे राष्ट्रीय प्रतिस्पर्द्धा हेतु चयन किये जायेंगे उनको पूर्व राष्ट्रपति व बच्चों के प्रिय ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के हाथों पुरस्कृत किया जायेगा। राष्ट्रीय स्तर पर विजयी प्रतियोगी जापान में होने वाली अन्तर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्द्धा में भाग ले सकेंगे जिसके लिये उनको अपने माता-पिता व गुरु के साथ कंपनी के खर्च पर जापान भेजा जायेगा। Continue reading

राजनीतिज्ञ – सबसे बड़े खलनायक

August 26, 2014 // 0 Comments

दंगों में विभिन्न कारकों का छात्र-छात्राओं ने बखूबी विश्लेषण किया। राजनीति, धर्म और मजहब, जाति प्रथा, सिविल प्रशासन, पुलिस, न्याय-प्रणाली, आपसी भाई-चारा, रोजगार, अफवाहें, सोशल मीडिया और शिक्षा -– दंगों को रोकने / भड़काने में इन सभी की भूमिका पर बच्चों ने खूब कलम चलाई। राजनीतिज्ञ लगभग प्रतियोगियों की दृष्टि में सबसे बड़े खलनायक के रूप में उभर कर आये। खास तौर पर सत्ता में बैठे राजनीतिज्ञों द्वारा पुलिस पर राजनीतिक दबाव बना कर दंगाइयों पर नियंत्रण न करने देना इन प्रतियोगियों की निगाह में दंगों से होने वाले नुकसान का सबसे महत्वपूर्ण कारण है। Continue reading

Shivalik Bank more than doubles its profits

August 24, 2014 // 0 Comments

Alarming rise in NPAs of the various large Indian banks is becoming a matter of grave concern for the nation’s economy, Central Govt and the RBI but Shivalik Bank’s net NPA is at 1.50% of its total advances – a no mean achievement in view of the fact that the bank has given 83.23% of its advances to priority sector only. Continue reading

समाचार कतरनें

August 22, 2014 // 2 Comments

(22 Aug) द सहारनपुर डॉट कॉम द्वारा शिवालिक बैंक के सहयोग से आयोजित लेखन प्रतियोगिता ने सहारनपुर जनपद के स्कूल – कालेजों में तो हलचल मचाई ही है, मीडिया का ध्यान भी अपनी ओर आकर्षित किया है। आपके अवलोकन हेतु प्रस्तुत हैं कुछ कतरनें जो हमारी दृष्टि में आई हैं। Continue reading

“दंगामुक्त समाज के लिये दस सुझाव” – लेखन प्रतियोगिता

August 21, 2014 // 4 Comments

ये पीढ़ी आस्तिक है, भगवान के न्याय में विश्वास करती है परन्तु मज़हब को इतना बड़ा मुद्दा नहीं मानती कि हम उसके लिये आपस में ही लड़ना – भिड़ना शुरु कर दें। ये पीढ़ी राजनीति को समाज के उत्थान का महत्वपूर्ण उपकरण मानती है परन्तु वोट बैंक की तुच्छ राजनीति से घृणा करती है। ये पीढ़ी बड़ी लगन से इस बात की तैयारी कर रही है कि कल इनको भी जिलाधिकारी और एस.एस.पी. बनने का अवसर मिले तो ये दिखा दें कि न्याय व कानून व्यवस्था का पालन कैसे कराया जाता है। कल जब इनमें से कुछ न्यायाधीश की कुर्सी पर बैठेंगे तो निश्चय ही वह एक मुकद्दमें को बीस-तीस साल तक लटकने नहीं देंगे। इस पीढ़ी को भ्रष्टाचार से सख्त नफरत है। Continue reading

1 2 3 15
Powered By Indic IME