सहारनपुर ने सराहा अपने संत कमल किशोर को

भारत भूषण ने संत कमल किशोर के बहआयामी व्यक्तित्व पर प्रकाश डालते हुए बताया कि कई भाषाओं के ज्ञाता, सभी धर्मों के प्रमुख ग्रंथों का अध्ययन करने वाले, 403 बच्चों को गोद लेकर उनकी पढ़ाई – लिखाई का खर्च वहन करने वाले, 1700 से भी अधिक निःशुल्क आयुर्वेदिक चिकित्सा शिविरों का आयोजन करने वाले, देहदान का संकल्प करने वाले, 126 बार स्वयं रक्तदान करने वाले संत कमल किशोर जी ने अनेक लोगों को रक्तदान, देहदान, नेत्रदान की प्रेरणा दी है। देश के अनेकानेक नगरों में धर्म के गूढ़ रहस्यों को अत्यन्त सरल शब्दों में समझाने वाले संत कमल किशोर जी के साधना चैनल पर 26

Continue reading

गरीब बच्चों का इलाज ईश्वर की सच्ची पूजा

हिमालयन इंस्टीट्यूट व हस्पताल जॉली ग्रांट से पधारे डा. दीपक भारद्वाज व डा. ईशा भारद्वाज ने आज के शिविर में बच्चों की जांच का मोर्चा सुबह से ही संभाल लिया था। विभिन्न विशिष्ट अतिथि आते रहे, भाषण देकर जाते रहे, परन्तु ये दोनों चिकित्सक निस्पह भाव से अनवरत्‌ अपने कार्य में लगे रहे। न नाश्ते की सुध, न गले में माला डलवाने की।

Continue reading

नौकरी दिलाने के नाम पर ठगने का प्रयास

शिवालिक बैंक ने किसी भी बाहरी एजेंसी से नौकरी दिलाने के बारे में कोई समझौता नहीं किया हुआ है। जो युवक – युवती शिवालिक बैंक में अपना कैरियर बनाने के इच्छुक हैं, उनको शिवालिक बैंक से सीधे संपर्क करना चाहिये और शिवालिक बैंक की ईमेल आई डी पर ही अपने सी.वी. प्रेषित करने चाहियें। बैंक की ओर से दिल्ली में इस फर्म के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज़ कराते हुए शीघ्रतिशीघ्र अपराधियों के विरुद्ध आवश्यक कानूनी कार्यवाही करने की प्रार्थना की गयी है।

Continue reading

सहारनपुर मे गुघाल मेला

बांसुरी पर राजवीर सिंह ने उनका बखूबी साथ दिया। सच तो यह है कि गायिका को बांसुरी पर संगत देने का यह अभिनव प्रयोग सहारनपुर में पहली बार देखने को मिला और राजवीर सिंह की बांसुरी सुन कर मन पुलकित हो गया। पोलियो ग्रस्त ग़ालिब से भगवान ने यदि चलने-फिरने की शक्ति छीन रखी है तो क्या, उनके गले में तो मुहम्मद रफ़ी जैसी मधुर व दिलकश आवाज़ का जादू भर दिया है।

Continue reading

जीनियस बच्चों की खोज

Math-spcl-class

गणित में विशेष प्रतिभा का प्रदर्शन करने वाले बच्चों के लिये चार चरण में एक प्रतिस्पर्द्धा का भी आयोजन किया जा रहा है। प्रदेश स्तर पर जो बच्चे राष्ट्रीय प्रतिस्पर्द्धा हेतु चयन किये जायेंगे उनको पूर्व राष्ट्रपति व बच्चों के प्रिय ए.पी.जे. अब्दुल कलाम के हाथों पुरस्कृत किया जायेगा। राष्ट्रीय स्तर पर विजयी प्रतियोगी जापान में होने वाली अन्तर्राष्ट्रीय प्रतिस्पर्द्धा में भाग ले सकेंगे जिसके लिये उनको अपने माता-पिता व गुरु के साथ कंपनी के खर्च पर जापान भेजा जायेगा।

Continue reading

राजनीतिज्ञ – सबसे बड़े खलनायक

125featured

दंगों में विभिन्न कारकों का छात्र-छात्राओं ने बखूबी विश्लेषण किया। राजनीति, धर्म और मजहब, जाति प्रथा, सिविल प्रशासन, पुलिस, न्याय-प्रणाली, आपसी भाई-चारा, रोजगार, अफवाहें, सोशल मीडिया और शिक्षा -– दंगों को रोकने / भड़काने में इन सभी की भूमिका पर बच्चों ने खूब कलम चलाई। राजनीतिज्ञ लगभग प्रतियोगियों की दृष्टि में सबसे बड़े खलनायक के रूप में उभर कर आये। खास तौर पर सत्ता में बैठे राजनीतिज्ञों द्वारा पुलिस पर राजनीतिक दबाव बना कर दंगाइयों पर नियंत्रण न करने देना इन प्रतियोगियों की निगाह में दंगों से होने वाले नुकसान का सबसे महत्वपूर्ण कारण है।

Continue reading